गिरीडीह:- दो नाबालिग सहित 10 साइबर अपराधी गिरफ्तार!

0

रिपोर्ट: विलियम जेकब

16 मोबाइल सेट, 31 सिम कार्ड, 9 एटीएम, चेक बुक, कार सहित 379500 नगदी बरामद!

दोनों नाबालिग बच्चे लेडीज डॉक्टर, आंगनवाड़ी सेविका की आवाज में नवजात बच्चों के पेरेंट्स को फोन कर फ्रॉड करता था!

पुलिस प्रशासन द्वारा लगातार साइबर अपराधियों को गिरफ्तार करने की मुहिम चलाई जा रही है। इसी कड़ी में पुलिस प्रशासन ने दो नाबालिग बच्चे सहित 8 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया गया।यह जानकारी प्रशिक्षु आईपीएस हरीश बिन जमा ने प्रेस वार्ता आयोजित कर दी। उन्होंने बताया कि वरीय पदाधिकारियों के द्वारा हरियाणा से फ्रॉड करने का मामला सामने आता है, जिसके बाद पुलिस प्रशासन को एक मोबाइल नंबर और अकाउंट नंबर मिलता है। और पुलिस इस मामले की छानबीन करती है। मोबाइल नंबर से कुछ पता नहीं चल पाता है, लेकिन अकाउंट नंबर के द्वारा एक व्यक्ति की गिरफ्तारी होती है। गिरफ्तार व्यक्ति का नाम जावेद हुसैन पचम्बा थाना निवासी है। जावेद को गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में बांकी अपराधियों का खुलासा हुआ। जिसके बाद पता चला कि इन साइबर ठगी का पचंबा, बेंगाबाद थाना के अलावा बिहार राज्य के जमुई जिले के चकाई में भी साइबर अपराधी का गैंग बना हुआ है। पुलिस प्रशासन ने इन जगहों पर छापेमारी कर सभी साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया । इन साइबर अपराधियों में जावेद हुसैन, उज्जवल कुमार, भरत मंडल, सरयू कुमार मंडल, हुबलाल मंडल, लूटन मंडल, विकास कुमार मंडल, लक्ष्मण कुमार मंडल व दो अन्य 13-14 वर्षीय बच्चे भी शामिल हैं। हरीश बिन जमा ने बताया कि दोनों बच्चे लेडीज डॉक्टर बनकर, आंगनबाड़ी सेविका की आवाज में नवजात बच्चों के पेरेंट्स को फोन कर उन्हें सरकारी धन लाभ मिलने की बात बता कर उनसे मोबाइल नंबर, अकाउंट नंबर डेबिट, क्रेडिट कार्ड का नंबर लेकर उससे फ्रॉड करने का काम करता था। इन लोगों के पास है 16 मोबाइल फोन सेट, 31 सिम कार्ड,9 एटीएम और चेक बुक, कार 3,79,500 रुपए नकद भी बरामद किए गए। प्रेस वार्ता में प्रशिक्षु आईपीएस के अलावा साइबर डीएसपी संदीप सुमन, समदर्शी व पुलिस टीम उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *