भागलपुर:-एस एस पी ने लगाई फटकार तो महिला इंस्पेक्टर ने किया ऑडियो वायरल!

0

अरविंद कुमार की रिपोर्ट!

भागलपुर से अरविन्द कुमार की रिपोर्ट:-भागलपुर मास्क जांच अभियान में शिथिलता बरतने के आरोप में एसएसपी आशीष भारती ने डांट लगाई तो महिला इंस्पेक्टर स्वप्निल शरण ने एसएसपी से मोबाइल पर हुई बातचीत का ऑडियो वायरल कर दिया। 2 मिनट 29 सेकेंड के ऑडियो में एसएसपी ने महिला इंस्पेक्टर स्वप्निल शरण की शिथिलता पर उन्हें डांट लगाई है और ठीक से काम नहीं करने पर कार्रवाई की हिदायत दी है।

ऑडियो के वायरल होने पर एसएसपी ने सिटी एएसपी पूरन झा को मामले की जांच कर रिपोर्ट मांगी है, ताकि आगे की कार्रवाई की जा सके। महिला इंस्पेक्टर पर कार्रवाई तय मानी जा रही है। क्योंकि बिना अनुमति एसएसपी की बात को रिकॉर्ड किया गया और वायरल किया गया।

मामला अनुशासनहीनता का बनता है। उक्त महिला इंस्पेक्टर की ड्यूटी मास्क जांच अभियान में लगाई है। एएसपी ने बताया कि उन्हें जांच का आदेश मिल गया है। महिला इंस्पेक्टर को बुलाकर जानकारी ली जाएगी कि आखिर किस परिस्थिति में सीनियर की बात को रिकॉर्ड कर वायरल किया गया। शंखनाद कथित उक्त ऑडियो की पुष्टि नहीं करता है।

जानिये, वायरल ऑडियो में एसएसपी और महिला इंस्पेक्टर में क्या हुई बातचीत
एसएसपी : मास्क वाला अभियान कैसा चल रहा है?
महिला इंस्पेक्टर : सर… लोग पैसे देने में बहुत परेशान करते हैं… मतलब फाइन नहीं कटवाना चाहते हैं…अब तो लगभग लोग मास्क लगाने भी लगे हैं।
एसएसपी : आपका परफॉरमेंस देखते हैं। 1800, 1850 रुपए… यह तो 2 घंटे के भीतर हो जाना चाहिए। 8 घंटे की मिनीमम ड्यूटी में तो फाइन 10 हजार पार हो जाएगा। लेकिन शुरू से आपका यही है…इससे ज्यादा मेहनत नहीं करनी है।
महिला इंस्पेक्टर : नहीं सर…कोशिश तो करते हैं
एसएसपी : अरे…कोशिश क्या करते हैं भई…आपकी सैलरी और जितने सिपाही लोग लगते हैं, उन सबकी एक दिन की सैलरी कैलकुलेट किया जाएगा तो उससे ज्यादा आ जाएगा। तो ठीक से कीजिए…सुबह में जब अभियान में निकलते हैं तो उसकी जानकारी दीजिए और शाम में वापस लौटने पर बताइए कि इतना टोटल फाइन किया गया। कुछ फोटो वगैरह भी भेजिए। समझ गईं। खाली 2 घंटा काम करके इधर-उधर भागने वाला काम मत कीजिए।
महिला इंस्पेक्टर : सर आपसे मिलने ही आ रहे थे…
एसएसपी : सिर्फ यही काम आपको दिया गया है। फिर भी 1800 रुपए मात्र कलेक्ट हो रहा है…
महिला इंस्पेक्टर : सर…आपसे मिलने ही आ रहे थे। 30 तारीख के बाद मेहरबानी करके हमें छोड़ दीजिए…मेरी बेटी…
एसएसपी : अरे भाई एक काम आपसे होता नहीं…सबसे आसान वाला काम दिया गया था। कोई भी काम होता है तो मेहरबानी करके छोड़ दिया जाए…क्यों सर्विस में आए थे…
महिला इंस्पेक्टर : सर…पढ़ाना हमको अच्छा लगता है…
एसएसपी : पढ़ाने की कौन सी ड्यूटी लगती है?
महिला इंस्पेक्टर : इसलिए तो नाथनगर…
एसएसपी : क्यों नाथनगर जाइएगा…यहां इंस्पेक्टर है ही नहीं…आप सीटीएस नाथनगर पोस्टिंग करा लीजिए… भागलपुर जिला बल से हट जाइए… क्या हमको उससे दिक्कत है…ऐसा है काम ठीक से कीजिए…नहीं तो आप पर कार्रवाई हो जाएगी। बोला जा रहा है काम करने तो रोने लगते हैं…
महिला इंस्पेक्टर : नहीं रो रहे हैं…सर…सिर्फ मेरा आवेदन फॉरवर्ड…
एसएसपी : अरे भाई आपको जो बोला जा रहा है…समझ में नहीं आ रहा है और इसके बाद बहस कर रही हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *