गिरिडीह:-जमीन मालिक को मुआवजा नहीं, डीबीएल कंपनी करा रही जीटी रोड का चौड़ीकरण कार्य!

0

रिपोर्ट: विलियम जेकब

कंपनी एवं जमीन मालिक का विवाद थाना पहुंचा, दोनों ने एक दूसरे पर लगाए गंभीर आरोप!

डुमरी थाना क्षेत्र के सिमराडीह निवासी प्रीतम महतो ने शुक्रवार को थाना में आवेदन देकर जीटी रोड
चौड़ीकरण कार्य में लगी डीबीएल कंपनी के मैनेजर सुनील कुमार राय व अन्य लोगों पर जानलेवा हमला करने एवं पैकेट से राशि निकाल लेने का आरोप लगाते हुए उचित कार्रवाई की मांग की है।आवेदन पत्र में पीड़ित ने लिखा है कि मेरे चाचा की खतियानी भूमि जिसका अधिग्रहण जीटी रोड की छह लेनिंग विस्तारन
में किया गया है लेकिन आजतक उसका मुआवजा राशि का भुगतान नहीं किया गया है।आज सुबह रोड
निर्माण कंपनी द्वारा कार्य किया जा रहा था जिसका
विरोध करने पर डीबीएल कंपनी के कर्मी सुनील कुमार राय अपने 5-7 गुंडों के साथ आया और गाली गलौज करते हुए गर्दन पकड़ कर पटक दिया और जान मारने के नीयत से लात घुस्सों से मारने लगा,
साथ ही पैकेट में रखा 1210 रूपये निकाल लिया।
लिखा है कि घटना की खबर सुनकर गांव के सहदेव महतो,गुलाबचंद महतो, जयकुमार महतो आदि आये उसके बाद वेसब भाग खड़े हुए।वहीं डीबीएल कंपनी के मैनेजर सुनील कुमार राय ने भी थाना में आवेदन देकर सिमराडीह निवासी नागेश्वर महतो,प्रीतम महतो सहित अन्य लोगों पर मारपीट करने,रंगदारी मांगने व राशि एवं सोने का चेन व अंगूठी छीन लेने का आरोप
लगाते हुए उचित कार्रवाई की मांग की है।आवेदन में
कंपनी के मैनेजर सह यूपी के इलाहाबाद के भुंडा खाई करछना निवासी ने लिखा है कि वे सिमराडीह मोड़ पर कंपनी का कार्य करा रहे थे कि नागेश्वर महतो व प्रीतम महतो अपने 8 लोगों के साथ आए और मुझे मारने लगे साथ ही पैकेट से 13500 रुपये व सोने की अंगूठी तथा चेन निकाल लिया जबकि नागेश्वर महतो बोल रहा था कि बिना रंगदारी दिए काम करता है वहीं धमकी दिया कि रंगदारी नहीं देगा तो आगे भी मारेंगे।
मैनेजर ने सरकारी काम में बाधा उत्पन्न करने का भी आरोप लगाया है।पुलिस मामले की जांच में जुटी है।
इधर माले प्रखंड सचिव नागेश्वर महतो ने कहा है कि
पुलिस मामले की जांच निष्पक्षता से कर दोषियों पर
कार्रवाई करे।पैसे व पैरवी के बल पर यदि एकतरफा कार्रवाई होगी तो इसका पुरजोर विरोध किया जाएगा।
गौरतलब हो कि सड़क विस्तारीकरण में लगी कंपनी पर आए दिन दबंगई पूर्वक बिना मुआवजा भुगतान के
कार्य करने का आरोप लगते रहता है लेकिन पहुंच व
चांदी के जूतों के बल सभी मामले को रफादफा कर दिया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *