बाँका:-स्वर्ण व्यवसाई के घर भीषण डकैती, सोना चांदी सहित लाखों की लूट !

0

एके श्रीवास्तव प्रधान उप संपादक शंखनाद :

गृहस्वामी सहित उसकी पत्नी व पुत्री को रस्सी से बांधकर की बुरी तरह पिटाई !

घटना के बाद पुलिस स्क्वायड डॉग की मदद से कर रही है जांच पड़ताल !

जख्मी गृहस्वामी डकैतों की मार से बुरी तरह जख्मी भागलपुर रेफर !

बांका : हथियार से लैस करीब आधा दर्जन लूटेरों ने शनिवार की देर रात रजौन बाजार स्थित विमल पौदार नामक एक स्वर्ण व्यवसायी के घर पर धावा बोलकर भीषण डकैती की घटना को अंजाम दिया है। बेखौफ डकैतों ने स्वर्ण व्यवसायी के अलावे उसकी पत्नी गीता देवी व पुत्री रेनू देवी को बंधक बनाकर बुरी तरह पिटाई भी कर दी। जख्मी गृह स्वामी का इलाज भागलपुर के मायागंज अस्पताल में चल रहा है। डकैती की इस घटना में भारी मात्रा में जेवर जेवरात सहित करीब तीस लाख से भी ज्यादा की संपत्ति लूटने की पुष्टि गृह स्वामी सहित उसके पुत्रों ने की है। इधर इस घटना के बाद बाँका के एसडीपीओ दिनेश चंद्र श्रीवास्तव नी रजौन थानाध्यक्ष बुद्धदेव पासवान एएसआई संजय सुमन के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की पूरी जानकारी ली है। इधर घटना के बाद पुलिस एस्क्वायड डॉग की मदद से अपराधियों तक पहुंचने के लिए कोशिश करती रही, लेकिन पुलिस को अब तक कोई सफलता नहीं मिल सकी है। जानकारी के अनुसार रजौन के नवटोलिया सड़क मार्ग स्थित करीब 70 वर्षीय वृद्ध स्वर्ण व्यवसाई विमल पोद्दार के घर पर पीछे से रस्सी के सहारे पहले छत पर चढ़े और सीढ़ी के सहारे नीचे उतर आए। स्वर्ण व्यवसाई की पत्नी गीता देवी व पुत्री रेनू देवी ने बताया कि विरोध करने पर हथियार से लैस अपराधियों ने हथियार का भय दिखाकर सभी को रस्सी से बांध दिया और बुरी तरह पिटाई भी कर दी। अपराधियों ने करीब 10 लाख नगद के अलावे लाखों रुपए मूल्य के जेवर जेवरात भी लूट लिए। बताया जा रहा है कि स्वर्ण व्यवसाई बंधक के रूप में भी जेवर जेवरात रखता था। स्वर्ण व्यापारी का रजौन बाजार में तीन जगह दुकान भी है। मूल रूप से अमरपुर के बेरमा गांव का रहने वाला यह स्वर्ण व्यवसाई इधर दो दशक से रजौन में ही डेरा लेकर व्यवसाय करता था।इधर कुछ सालों पूर्व वह रजौन में जमीन खरीद कर एक घर भी बना लिया था। स्वर्ण व्यवसाई को 5 पुत्र हैं और पांचों पुत्र अलग-अलग रहते हैं। घरवालों का कहना था कि उनके व्यवसाय की उन्नति को देख अन्य व्यवसायी जलते थे। पीड़ित स्वर्ण व्यवसाई के पुत्र पंकज कुमार व हरी किशोर प्रसाद के अनुसार नगद व जेवर जेवरात सहित करीब 50 लाख की लूट हुई है। सूत्रों का कहना है कि उनकी संपत्ति से पुत्रों को कोई लेना-देना नहीं था। बहरहाल इस घटना के बाद अपराधियों ने एक बार फिर पुलिस को खुली चुनौती दे दी है। पुलिस मामले की जांच पड़ताल कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *