डॉ. अनीता शर्मा के आलेख और चिंता-चिंतन संग्रह का लोकार्पण !

0

डॉ. कल्याणी कबीर की रिपोर्ट!

तुलसी भवन के सभागार में अखिल भारतीय साहित्य परिषद और नव पल्लव संस्था के बैनर तले डॉक्टर अनीता शर्मा के आलेख संग्रह चिंता और चिंतन का लोकार्पण समारोह आयोजित किया गया ।

इस समारोह में अध्यक्ष के तौर पर वरिष्ठ साहित्यकार हरिवल्लभ सिंह आरसी जी की उपस्थिति थी ।

मुख्य अतिथि थे वरिष्ठ साहित्यकार और सशक्त वक्ता डॉ संजय पंकज जी और विशिष्ट अतिथि के तौर पर भूतपूर्व संस्कृत विभागाध्यक्षा कोलहान विश्वविद्यालय डॉक्टर रागिनी भूषण जी और प्रतिष्ठित समाजसेवी आदरणीय मंजू ठाकुर जी।

कार्यक्रम का आरंभ माँ सरस्वती के समक्ष माल्यार्पण और दीप प्रज्वलन के साथ किया गया।

संगीत शिक्षिका और लोकगीत गायिका पद्मा झा ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत किया।

नव पल्लव की अध्यक्षा श्रीमती माधुरी मिश्रा ने स्वागत भाषण दिया।

लोकार्पण समारोह के दौरान मंचासीन अतिथियों को स्मृति चिन्ह और अंग वस्त्र प्रदान कर उनकी उपस्थिति के प्रति सम्मान व्यक्त किया गया।

अध्यक्षीय भाषण में हरि वल्लभ सिंह आरसी जी ने कहा की दुनिया आज विनाश के शिखर पर खड़ी है इसकी चिंता सबने की लेकिन चिंतन किसी ने नही किया।इसकी चिंता करने की जरूरत है।

मुख्य अतिथि डॉक्टर संजय पंकज ने अपने वक्तव्य में कहा कि साहित्यकार अपना दायित्व निभाता है लेखक कभी भी अपने दायित्वों से नही हटता है।बेटियां आज बोझ नही है बल्कि बोझ को उठाने वाली है।

विशिष्ट अतिथि के तौर पर आदरणीय मंजू ठाकुर जी ने कहा डॉ अनिता शर्मा के व्यक्तित्व का परिचय दिया।

डॉक्टर रागिनी भूषण जी ने संगीतमय तरीके से रागात्मकता के साथ अनिता शर्मा के व्यक्तित्व की विवेचना की।

रचनाकारा डाॅ अनीता शर्मा ने अपनी बात रखते हुए कहा कि वह इस मुकाम तक पहुंचने हेतु अपने पति श्री शिशिर कुमार जी को देती हूं जिन्होंने सदा ही उनका साथ दिया ।उन्होंने शिक्षिका के तौर पर अपना दायित्व निभाते हुए ही संवेदना के तहत ही इस कृति की रचना की है।आभार व्यक्त किया साहित्य समिति एवमं तुलसी भवन का जो साहित्यकारों को सदैव प्रोत्साहित करता है।
राजदेव सिंह जी भी पुस्तक की परिकल्पना से लेकर इसके पुस्तकाकार होने और शिक्षिका के व्यक्तित्व पर चर्चा की।

धन्यवाद ज्ञापन अनिता निधि जी किया ने दिया और कार्यक्रम का संचालन कल्याणी कबीर ने किया ।इस कार्यक्रम में सोनी सुगंधा,डॉ जूही समर्पिता,डॉ आशा गुप्ता,प्रतिभा प्रसाद जीऔर शहर के अन्य बुद्धिजीवी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *