चौदह मंत्रियों के साथ नीतीश कुमार ने ली सातवीं बार सी एम पद की शपथ!

0

रवि शंकर शर्मा की रिपोर्ट!

चौदह मंत्रियों के साथ नीतीश कुमार ने सातवीं बार ली मुख्यमंत्री पद की शपथ। इस बार सी एम के साथ बिहार को मिले दो डिप्टी सी एम! कैबिनेट में भाजपा बड़े भाई के रोल में ! 7:5 के फार्मूले के साथ कैबिनेट मंत्रियों ने ली शपथ । भाजपा से सात और जदयु से 5 मंत्रियों को मुख्यमंत्री के साथ महामहिम राज्यपाल फग्गू चौहान ने दिलाई पद और गोपनीयता की शपथ!
भाजपा कोटे से तार किशोर प्रसाद और रेणु देवी को उप मुख्यमंत्री बनाया गया है! तार किशोर प्रसाद कटिहार से चौथी बार विधायक बने तो रेणु देवी बेतिया से विधायक चुनी जाती रही हैं। मंगल पांडेय को छोड़कर भाजपा ने नये चेहरों को कैबिनेट में जगह दी है।
तार किशोर प्रसाद, रेणु देवी, जीवेश मिश्र, रामप्रीत पासवान, अमरेंद्र प्रताप सिंह और राम सूरत राय मंत्री बनाये गये हैं। जबकी जदयु कोटे से विजय कुमार चौधरी, अशोक चौधरी, विजेंद्र यादव, शिला मंडल और मेवालाल चौधरी मंत्री बनाये गये हैं।
वहीं हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा से जीतन राम माँझी के बेटे संतोष माँझी और वी आई पी से मुकेश सहनी को मंत्री बनाया गया है।
आज दो रिकॉर्ड एक साथ बने, पहली किसी व्यक्ति द्वारा सातवीं बार सी एम पद की शपथ लेना और दूसरी बिहार को पहली महिला उप मुख्यमंत्री का मिलना!

इसके साथ ही जातीय समीकरणों को साधने में भी भाजपा और जदयु ने कोई कसर नही छोड़ी, देखा जाय तो जातीय समीकरण के आधार पर ही कैबिनेट का गठन भाजपा-जदयु ने किया है! अधिक संख्या वाले वोटर्स का प्रतिनिधित्व करने वाली सभी जातियों के विधायक मंत्री बनाये गये हैं। तो सीमांचल और मिथिलांचल का भी विशेष ख्याल रखा गया है।
अब बिहार को नीतीश कुमार और नई सरकार से नई उम्मीदें हैं।
ब्लॉक,पंचायत और थाना स्तर पर व्याप्त भ्रष्टाचार से नीतीश सरकार मुक्ति दिलाने में कितना सफल होगी ये तो वक़्त तय करेगा पर लोगों की उम्मीदें उनके शपथ ग्रहण के साथ ही जुड़ भी गई है और बढ़ भी गई है!
नीतीश कुमार पर अपनी छवि सुधारने की चुनौतियाँ होंगी तो साथ ही जन आकांक्षाओं पर खड़ा उतरने की भी। और ये चुनौतियाँ तब तक है जब तक आम आवाम से जुड़े भ्रष्टाचार जिसमे, पंचायत,प्रखण्ड और पुलिस शामिल है, को मुख्यमंत्री नियंत्रित करके नये बिहार के निर्माण की तरफ कदम नही बढ़ा देते!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *