बिहार की राजनीति इस बार महाभारत से कम नहीं,प्यार और राजनीति में सबकुछ जायज है,thelankadahan

0

मोर्चा ही मोर्चा : बिहार में अब छह गठबंधनों के बीच होगा मुकाबला

नई दिल्ली/पटना। बिहार विधानसभा चुनाव दिलचस्प मोड़ पर पहुंच गया है। दो प्रमुख गठबंधन राजग और राजद की अगुआई वाले महागठबंधन के बीच सीट बटवारे की गुत्थी सुलझ नहीं पाई है। दोनों गठबंधन में जगह नहीं बना पाने की नाकामी ने चार नए गठबंधनों यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ), यूनाइटेड डेमोक्रेटिक सेक्युलर एलायंस (यूडीएसए), प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन (पीडीए) और तीसरा मोर्चा को जन्म दिया है। वाम दल भी महागठबंधन में मनमाफिक सीट नहीं मिलने पर वाम मोर्चा बनाने की धमकी दे रहे है।
सीटों पर छिड़े विवाद के बीच भाजपा ने लोजपा को 27 सीटें और भविष्य में एमएलसी की दो सीटों का नया प्रस्ताव दिया है। भाजपा ने साफ कर दिया है कि वह इससे ज्यादा सीटें लोजपा को नहीं देगी।हालांकि ,कई ऐसे सवाल है, जिसका जवाब फिलहाल नहीं है। मसलन जदयू का दावा है कि उसे 122 और भाजपा को 121 सीटें मिलेंगी।भाजपा अपने कोटे से लोजपा को और जदयू अपने कोटे से जीतन राम माझी की हम को सीटें। जबकि भाजपा का कहना है कि वह 101, जदयू 103 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। बाकी बची 39 सीटें सहयोगियों को दी जाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *