पाकिस्तान अपनी बेइज्जती करवाने का कोई मौका नहीं छोड़ता,फिर से भद्द पिटवा ली,thelankadahan

0

By- Akash Singh

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को ख़त्म करने और राज्य के पुनर्गठन के भारत के फ़ैसले के बाद पाकिस्तान इस मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय रंग देने की हरक़तों से बाज़ नहीं आ रहा. जिनेवा में चल रहे संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद – UNHRC के 42 वीं सेशन में भी उसने कश्मीर का मुद्दा उठाया जिसका कुछ देर बाद भारत ने करारा जवाब दे दिया. भारतीय डेलिगेशन में शामिल सेक्रेट्री (ईस्ट) विजय सिंह ठाकुर ने एक नपा तुला लेकिन सख़्त बयान देकर पाकिस्तान को आइना दिखाने का काम किया. भारतीय प्रतिनिधि ने पाकिस्तान का नाम लिए बगैर साफ़ कहा कि वैश्विक आतंकवाद का ये केंद्र सालों से आतंकी सरगनाओं को शरण दे रहा है. वो ख़ुद आतंकवाद को बढ़ावा देकर ख़ुद को इससे पीड़ित दिखा रहा है.

भारत ने संयुक्त राष्ट्र में दोहराया की कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और पाकिस्तान को अपने कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) को खाली करना ही होगा, संयुक्त राष्ट्र महासभा के ७५वे सत्र में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की और से कश्मीर मुद्दा उठाने पर वाकआउट करने के बाद भारत ने दो टूक जवाब दिया कि अब बात सिर्फ पीओके पर होगी, भारत कि तरफ से कहा गया कि पाकिस्तान कश्मीर के उन सभी हिस्सों को खाली करे जो उसके अवैध कब्जे में है भारत कि ओर से कहा गया कि पाकिस्तानी पीएम का बयान कूटनीतिक रूप से गिरे हुए स्तर का था, यह वही देश है जो खतरनाक और सूचीबद्ध आतंकियों को फंड मुहैया कराता है, भारत की तरफ से याद दिलाया गया की ये वही इमरान खान है जिन्होंने कभी ओसामा बिल लादेन को शहीद कहा था,गौरतलब हो की भारत की तरफ से बताया गया की इस सभा ने इमरान खान जैसे व्यक्ति की बात सुनी, जिनके पास दिखाने के लिए कुछ नहीं था, कुल मिलाकर अगर हम कहे तो बस बात इतनी है की पाकिस्तान अपनी बेइज्जती कराने का कोई भी मौका नहीं छोड़ता,भारत ने कड़े शब्दों में ये साफद क्र दिया है की चाहे जो हो जाये हम कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान से कोई बातचीत नहीं करेंगे अगर कोई बातचीत होगी तो वो सिर्फ पीओके पर होगी, पाकिस्तान लगातार अंतराष्ट्रीय स्तर पर कश्मीर मुद्दे पर अपनी आवाज उठाता रहता है लेकिन शायद उन्हें ये पता नहीं है कुछ चीजे इंसान की औकात से बाहर होती है और पाकिस्तान के लिए कश्मीर का भी वही हाल है,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *