मुंगेर:- गैस की बीमारी के चलते परेशान चल रहे थे होमगार्ड जवान, छुट्टी नहीं मिली तो खुद को मार ली गोली!

0

रागिनी शर्मा, विशेष संवाददाता!

मुंगेर। जिले के बरियारपुर थाना में सोमवार की देर रात डयूटी पर तैनात जवान मो. जाहिद ने अंधाधुंध गोली चला कर अंत में आत्महत्या कर ली। अचानक थाना परिसर में गोली चलने की आवाज से जहां पूरा इलाका दहशत में आ गया, वहीं थाना में पुलिस अधिकारी और जवानों ने नक्सली हमले की आशंका समझ बैठा। जिसके बाद लगातार थाना में 50 राउंड फायरिंग हुई। घटना की जानकारी मिलते ही एसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो और डीआईजी शफीउल हक़ बरियारपुर थाना पहुंचे। वहीं इस बात की जांच की जा रही है कि होमगार्ड के जवान के पास एके-47 हथियार कैसे आया।

सूचना मिलने के फौरन बाद जवानों ने की घेराबंदी
एसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो ने बताया कि सोमवार की रात करीब 11:30 बजे सूचना मिली कि बरियारपुर थाना पर हमला हो गया है । तीन से चार की संख्या में अपराधी बरियारपुर थाने ही फायरिंग शुरू कर दी। सूचना मिलते ही जवानों को अलर्ट किया गया। तत्काल भारी संख्या में जवान पहुंचकर थाने को घेरकर अपनी पोजीशन ले ली। आस-पास के लोगों को अपने घरों में सुरक्षित रहने की हिदायत देते हुए ड्रैगन लाइट से सर्च आपरेशन चलाया गया। एसपी ने आगे बताया कि थाना के एक कोने से रह रह कर फायर हो रही थी। पुलिस द्वारा जवाबी फायर में एक व्यक्ति को गोली लगी है। जिसके बाद गोली चलना बंद हो गया।

दोनों तरफ से 33 राउंड हुई फायरिंग
एसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो ने बताया कि गोली की आवाज थमने के बाद थाना परिसर में चेकिंग अभियान चलाया गया। जिसमें एक व्यक्ति की लाश बरामद हुई। पहचान करने पर वह होमगार्ड का जवान निकला। एसपी ने बताया कि तीन दिन पहले ही थाना के कैदी को स्कॉट के लिए उसे नियुक्त किया गया था। पुलिस द्वारा 23 राउंड और होमगार्ड द्वारा कुल 10 राउंड गोली फायर की गई। बरियारपुर थानाध्यक्ष के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। वहीं पूरे मामले की जानकारी की रिपोर्ट मानवाधिकार आयोग को भेजी जा रही है। पुलिस की शूटआउट करीब डेढ़ घंटे चली। मृतक के पोस्टमार्टम के लिए डॉक्टरों की टीम गठित की गई है। जवान द्वारा ऐसा क्यों किया गया इसकी जांच की जा रही है। जांच के लिए एफएसएल टीम की मदद ली जा रही है।

मृत होमगार्ड के परिजन हत्या का लगा रहे हैं आरोप
इधर, मृतक होमगार्ड जवान के बेटे के अनुसार उसकी तबियत कई दिनों से खराब चल रही थी। पेट में गैस की शिकायत से परेशान जवान ने थाना में अधिकारियों से इलाज के लिए छुट्टी मांगी थी। लेकिन उसे छुट्टी नहीं दे कर उसके साथ गलत व्यवहार किया जा रहा था। बेटे ने बताया कि दो दिन से वो अपनी मां के साथ थाना में छुट्टी दिलाने के लिए अधिकारियों से बात कर रहा था। जिसके बाद उसे मंगलवार को छुट्टी देने की बात कही गयी थी। लेकिन सोमवार की देर रात थाना में शूटआउट दिखा कर उसकी हत्या कर दी गयी । मृत होमगार्ड जवान मो. जाहिद की पत्नी ने बताया कि दिन से उसके पति गैस की बीमारी से परेशान थे। वो अपने परिवार के साथ भागलपुर में रहती है। कल ही मुंगेर से दवा लेकर बरियारपुर पहुंची तो अधिकारी ने छुट्टी देने से मना कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *