नोवामुंडी बोकारो साइडिंग और लाइन नंबर पांच प्लॉट से लौह अयस्क उठने से सरकार को मिलेगा राजस्व : सरयू राय!

0

शंखनाद ब्यूरो झारखंड

पश्चिमी सिंहभूम जिले के नोवामुंडी में अवस्थित बोकारो साइड़िंग के विधानसभा स्तरीय गठित प्रयोजन समिति के सभापति सह जमशेदपुर विधायक सरयू राय के नेतृत्व में बोकारो साइडिंग और लाइन नंबर पांच रेलवे प्लॉट का निरीक्षण किया गया। तीन सदस्यीय निरीक्षण टीम में महागामा विधायक दीपिका सिंह पांडेय और टुंडी विधायक मथुरा महतो शामिल थे। विधायक सरयू राय अपनी टीम को लेकर गुरुवार शाम को नोवामुंडी पहुंचे हुए थे। नोवामुंडी अतिथि कक्ष में रात्रि विश्राम के बाद शुक्रवार को सुबह टाटा स्टील के एलआरपी प्लांट का निरीक्षण कर खदान के खनन विषय को लेकर विस्तार से अवगत हुए। वहां से निकलने के बाद भट्टीसाई, बोकारो साइडिंग और लाइन नंबर पांच रेलवे प्लॉट का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान बोकारो साइडिंग प्लॉट में खुदाई कराकर उपलब्ध लौह अयस्क को देखा। प्लॉट निरीक्षण के बाद विधायक सरयू राय ने कहा कि प्लॉट पर साइडिंग के नाम से जो भी लौह अयस्क रखा हुआ है, सरकार को इसे नीलामी करके बेचवा देना चाहिए। इससे सरकार के खाते में राजस्व भी आएगा। स्थानीय लोगों को प्लॉट भी खाली मिल जाएगा। इससे लोगों को भी आसानी से रोजगार मिल जाएगा। गुरुवार को जिले के उपायुक्त अरवा राजकमल से भी बातचीत के दौरान इस विषय को लेकर चर्चा हुई थी। सांसद गीता कोड़ा भी रेलवे साइडिंग खुलने का जिक्र कर चुकी हैं। स्थानीय ग्रामीणों से साइडिंग विषय में बहुत सारी जानकारी मिल रही है। निरीक्षण के दौरान जिला खनन पदाधिकारी, निशांत अभिषेक, जगन्नाथपुर एसडीओ शंकर एक्का,किरीबुरू एसडीपीओ डाक्टर हीरालाल रवि,नोवामुंडी सीओ सुनील चन्द्र,बीडीओ समरेश प्रसाद भंडारी उपस्थित थे।

बोकारो साइडिंग चालू करें : लक्ष्मी सुरेन

जिला परिषद सदस्य लक्ष्मी सुरेन ने बिधान सभा स्तरीय गठित प्रयोजन समिति टीम को आवेदन देकर बंद पड़ी रेलवे साइडिंग खोलने की मांग की है। लक्ष्मी सुरेन ने विधायक सरयू राय से मिलकर बताया कि बोकारो साइडिंग और लाइन नंबर पांच प्लाट पिछले दस साल से बंद है। इस कारण वैगन भरकर मेहनत मजदूरी करके पेट पाल रहे करीब 500 परिवार बेरोजगार की स्थिति में आ गए हैं। यदि प्लॉट में जमा लौह अयस्क को उठाव की अनुमति दी जाए तो साइडिंग में दोबारा नए सिरे से काम शुरू हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *