गिरिडिह:- सरिया: आधार कार्ड बनवाने के लिए लोग लगा रहे हैं कार्यालय का चक्कर!

0

रिपोर्ट: विलियम जेकब

प्रखंड कार्यालय में एकमात्र सेंटर रहने के कारण लोगों को हो रही परेशानी!

कई दिनों तक दौड़ लगाने के कारण समय के साथ आर्थिक मार भी झेलना पड़ रहा है लोगों को!

सरिया प्रखंड मुख्यालय में एक मात्र आधार सेंटर होने से लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है । आधार कार्ड बनवाने या सुधार कराने के लिए लोगों को महीनों प्रखंड कार्यालय का चक्कर लगाना पड़ रहा है. शुक्रवार को सुदूरवर्ती इलाके कोयरीडीह, पुरनीडीह, घुठियापेसरा, अमनारी,बागोडीह, भलपहरी, दुर्गी धवैया, चिरुवाँ, चिचाकी, हरकटवा सहित कई गांव से छोटे-छोटे बच्चे गोद में लिए कई महिलाएं मालती देवी, गुड़िया देवी, सविता देवी, आरती देवी, शकुंतला देवी, देवमनिया देवी, सुजीत कुमार, गुड्डू सिंह, विजय यादव सहित कई लोग प्रखंड के ऊपरी मंजिल पर स्थित आधार सेंटर के दरवाजे के पास बैठ अपनी बारी का इंतजार करते देखे गये ।  उक्त लोगों की शिकायत है कि एक आधार कार्ड बनाने के लिए महीनों दौड़ना पड़ रहा है । पहले फॉर्म जमा करने में एक सप्‍ताह लग जा रहा है । उसके बाद रोज अहले सुबह आकर लाइन लग जाना पड़ता है. उसके बाद ऑपरेटर के द्वारा बताया जाता है कि बिजली नहीं है जिस कारण आधार नहीं बनेगा, कभी ऑपरेटर नहीं आता तो कभी उसे प्रखंड कार्यालय का काम दे दिया जाता है, जिससे बिना आधार बनाएं लोगों को खाली हांथ घर वापस जाना पड़ता है.   इतने अधिक ठंढ में  रहने से छोटे-छोटे बच्‍चों की तबियत खराब हो रही है । वहीं, आधार बनाने में लोगों को काफी मशक्कत करना पड रहा है । साथ आने जाने में किराया में दो चार सौ रुपये खर्च हो जा रहे हैं । सरिया के ग्रमीणों की शिकायत है कि पहले बाजार में व प्रज्ञा केन्द्र में मामूली शुल्क देकर आसानी से  आधार बन जाता था तथा आधार की त्रुटि में सुधार हो जाता था । पर  जब से सभी आधार केन्द्र को बंदकर सिर्फ प्रखंड कार्यालय में आधार बनाया जाने लगा है , परेशानी के साथ काफी पैसा भी  खर्च करना पड़ रहा है । यही नहीं प्रखंड के आधार सेंटर में एक दिन में मात्र 20 ही आधार कार्ड बनाया जाता है ,उसके बाद जो लोग आते हैं उन्हें दिनभर लाईन में लगने के बाद भी निराश होकर लौट जाना पडता है । सरिया 23 पंचायतों का  प्रखंड है । आधार कार्ड अभी के समय में बैंक,स्कूल, कॉलेज से लेकर अन्य सरकारी व गैरसरकारी कार्यों में भी बहुत आवश्यक है ।  जिसके कारण सूदूरवर्ती क्षेत्रों से आनेवाले लोगों की भीड आधार सेंटर में अधिक होती है पर समय पर आधार नहीं बनाने पर लोगों को काफी परेशानी का सामना भी करना पडता है । ग्रामीणों की मानें तो वे पूर्व की भाँति पंचायत स्तर पर आधार कार्ड सेंटर बनवाने की बात करते हैं,जिससे लोगो को सहूलियत मिल सके ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *